रीट के आयोजन को लेकर बेचैनी, ट्वीटर पर चलाया ट्रेंड


तृतीय श्रेणी अध्यापक भर्ती के लिए दो सितंबर को प्रस्तावित राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) को लेकर छह महीने गुजरने के बाद भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। गत दिनों शिक्षा विभाग की बैठक में कोई ठोस निर्णय नहीं हो पाने से 11 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों में बेचैनी है। इस संबंध में पंचायती राज विभाग की बैठक के बाद ही निर्णय हो पाएगा। इस बीच रविवार को अभ्यर्थियों ने ट्विटर पर रीट विज्ञप्ति और पैटर्न जारी करने की मांग की। इसके लिए अभ्यर्थियों ने हैशटैग रीट2020 विज्ञप्ति परीक्षा तिथि से 25 हजार से ज्यादा ट्वीट किए। दोपहर तक यह हैशटैग ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा। वहीं, अभ्यर्थियों के समर्थन में खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल ने भी ट्वीट किया।

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश प्रवक्ता उपेन यादव ने बताया कि जनवरी में तिथि घोषित होने के बाद भी नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है। उन्होंने शिक्षा विभाग से जल्दी कैलेंडर जारी करने और पद बढ़ाने की मांग की है।

जल्दी स्पष्ट हो स्थिति
प्रतियोगी परीक्षा विषेशज्ञ राघव प्रकाश ने बताया कि शिक्षा विभाग की ओर से पहले ही यह कहा जा चुका है कि पाठ्यक्रम एनसीटीई 2011 के अनुसार ही होगा। अतः विद्यार्थी परीक्षा की तैयारी पूर्व के तय पाठ्यक्रम के अनुसार करते रहें। दूसरे परीक्षा होगी या नहीं अथवा अन्य विषयों पर उच्च स्तर पर जल्द ही निर्णय हो सकता है। हालांकि सितंबर में परीक्षा के लिए परिस्थितियां अनुकूल दिखाई नहीं दे रही, अभ्यर्थियों की मांग पर स्थिति जल्द स्पष्ट होनी चाहिए।

प्रतियोगी परीक्षा विशेषज्ञ कुंवर कनक सिंह ने बताया कि रीट की स्थिति स्पष्ट नहीं होने से अभ्यर्थियों में तनाव और घबराहट है। उनकी काउंसलिंग करवाई जा रही है। सिलेबस, पैटर्न, वेटेज अधिकारिक नोटिफिकेशन इसी महीने जारी हो जाए तो विद्यार्थी अपनी स्ट्रेटेजी के अनुसार परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।


⏬ Buy Important Books For All Competitive Exams ⏬

Post a Comment

0 Comments