अगर आपके पास भी है ये योग्यता तो 'बिना एग्जाम' मिलेगी सरकारी नौकरी


देश और राज्य के लिए पदक जीतने वाले राजस्थानी खिलाड़ियों के लिए खुशखबर है। राज्य के खेल मंत्री अशोक चांदना ने मंगलवार को खिलाड़ियों के लिए आउट ऑफ टर्न नियुक्ति का अनुमोदन किया। उन्होंने राज्य क्रीडा परिषद को खिलाड़ियों के आउट ऑफ टर्न नियुक्ति के लिए खिलाड़ियों से प्रस्ताव आमंत्रित कर गठित सेल के पास भिजवाने को कहा है।

सेल इन खिलाड़ियों के नाम युवा मामले एवं खेल विभाग को भेजेगा। इस कार्यवाही से पैरा एथलीट हो या सामान्य, सभी की सरकारी नौकरी का रास्ता साफ हो गया है। खेल मंत्री ने कहा कि वे खिलाड़ी जिन्होंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीते और उनके नाम सूची में नहीं हैं, वे अपने नाम सीधे क्रीडा परिषद को दे सेल को भिजवा सकते हैं। करीब 500 खिलाड़ियों को चिन्हित किया है। इसके लिए ए कैटेगरी के लिए 11 खिलाड़ियों को, बी कैटेगरी में 13 और सर्वाधिक सी कैटेगरी में 463 खिलाड़ियों को रखा गया है।

श्रेणियां निम्न प्रकार हैं-
श्रेणी 'ए' : प्रथम श्रेणी में ओलंपिक खेल, पैरालंपिक के पदक विजेता, वर्ल्ड कप, वर्ल्ड चैंपियनशिप, पैरा वर्ल्ड कप, पैरा वर्ल्ड चैंपियनशिप के पदक विजेता, एशियन गेम्स, एशियन पैरा गेम्स के पदक विजेता, कॉमनवेल्थ, कॉमनवेल्थ पैरा इवेंट्स के पदक विजेता, क्रिकेट वर्ल्ड कप, चैंपियनशिप के विजेता या उपविजेता।

श्रेणी 'बी' : एशियन चैंपियनशिप/ एशियन पैरा चैंपियनशिप के पदक विजेता, साउथ एशियन गेम्स, साउथ एशियन पैरा गेम्स के पदक विजेता। क्रिकेट एशिया कप/ चैंपियनशिप की विजेता/ उपविजेता।

श्रेणी 'सी' : नेशनल गेम्स/ नेशनल पैरा गेम्स के पदक विजेता, नेशनल चैंपियनशिप/ पैरानेशनल चैंपियनशिप के पदक विजेता। नेशनल चैंपियनशिप ऑफ पोलो के विजेता/ उपविजेता या रणजी ट्रॉफी के विजेता/ उपविजेता। इन सभी श्रेणियों के लिए निर्धारित खेल निकायों द्वारा जारी प्रमाणपत्रों पर ही विचार किया जाएगा।


⏬ Buy Important Books For All Competitive Exams ⏬

Post a Comment

0 Comments