दफ्तर जाने के बजाए वर्क फ्रॉम होम से खुश हैं 62 प्रतिशत कर्मचारी : सर्वे


नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दीहै। लगातार आ रहे सक्रंमित लोगों के आकड़ें इतनी तेजी से बढ़ रहे है कि देश के कई राज्यों ने एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है। साल 2020 में आई इस महामारी के बाद से लोग अभी पूरी तरह से चेत भी नही पाए थे कि इसकी दूसरी लहर ने फिर से लोगों को घर में रहने के लिए मजबूर कर दिया है। अब लोग ऑफिस का काम भी घर से ही कर रहे हैं। इस बीच एक नए सर्वे से यह बात सामने आई है कि कर्मचारी ऑफिस जाने के बजाए घर पर रहकर ही काम करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। सर्वे में शामिल 62 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा है कि वे लोग दफ्तर जाए बिना घर से काम करके अधिक खुश हैं।

यह भी पढ़ें:- इन 8 बैंकों के ग्राहक हो जाएं सावधान, जल्द निपटा लें ये जरूरी काम, वरना 1 अप्रैल से पड़ेगा पछताना

सर्वे से यह बात सामने आई है कि लगभग 56 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा कि वे ऑफिस जाने की वजाए घर से काम वो काफी अच्छे तरीके से कर पाते हैं और 61 प्रतिशत लोगों ने कहा कि घर पर रहकर वे लोग आठ घंटे से भी अधिक समय तक काम कर सकते हैं। यह दावा लोगमीइन की ओर से संचालित फॉरेस्टर स्टडी में किया गया है।

इसके अलावा पांच प्रतिशत लोगों का मानना है कि घर पर रहकर काम करके वो अपने आप को अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं। वहीं 70 प्रतिशत लोगों का मानना है कि ऑफिस में रहकर कर्मचारी अधिक भरोसे के साथ काम करते हैं।

सुविधा मिले तो कम वेतन में भी काम को तैयार

लगभग 60 प्रतिशत प्रतिशत कर्मचारी ने कहा कि यदि उन्हें बिना किसी प्रेशर के पूरी सुविधा के साथ काम करने का मौका मिले तो वे अधिक समय तक उस कंपनी में बने रहने को तैयार हैं। और कम वेतन में भी काम करने को तैयार हैं। बता दें कि इस स्टडी में 582 रिमोट वर्क डिसिजन मेकर्स और वैश्विक संगठनों के 427 कर्मचारियों को शामिल किया गया था।

यह भी पढ़ें:- 1 अप्रैल से पड़ने वाली है महंगाई की मार, दूध से लेकर कार-फ्रिज तक पर असर


⏬ Buy Important Books For All Competitive Exams ⏬

Post a Comment

0 Comments