Indian Army Recruitment 2021:भारतीय सेना में 12 पास युवाओँ के लिए जल्द निकलेंगी 14 हजार भर्ती


नई दिल्ली। Sarkari Naukri, Indian Army Recruitment 2021: भारतीय सेना में रहकर देश की सेवा करने की इच्छा रखने वाले युवाओं के लिए सुनहरा अवसर मिलने वाला है क्योंकि भारतीय सेना में सभी आर्म्ड सर्विस में 1400 जूनियर कमीशन्ड ऑफिसर पद की भर्ती को लेकर चर्चा चल रही है। इस पद के उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा के आधार पर सीधे जूनियर कमीशन अधिकारी के पदों पर नियुक्त किया जाएगा। परीक्षा यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाएगी। इसके बाद उम्मीदवार को मेडिकल टेस्ट के बाद एसएसबी इंटरव्यू के प्रोसेस से गुजरना होगा।

प्रस्ताव में कहा गया है कि जिस उम्मीदवार का चयन जूनियर कमीशन अधिकारी के लिये किया जाता है तो उसे इस पद में शामिल होने से पहले डेढ़ साल के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। फिर, उन्हें सेवा अनुभव और योग्यता के आधार पर उस पद का दावेदार माना जाएगा। जिसके तहत कर्नल तक के अधिकारियों के रूप में तैनाती की जाएगी। जानकारी के अनुसार, इस प्रस्ताव को सेना कमांडर सम्मेलन के दौरान प्रस्तुत किया जाएगा जो मई में आयोजित होने की संभावना है। जूनियर कमीशन का पद एक ऐसे ऑफिसर्स का पद होता हैं, जिन्हें प्रदर्शन और परीक्षा के आधार पर अधिकारी पदों पर पदोन्नत किया जाता है।

शैक्षिक योग्यता

जूनियर कमीशन ऑफिसर कैटरिंग (सेना सेवा कोर): इस पद की नियुक्ति के लिए उम्मीदवार को 10 + 2 या समकक्ष परीक्षा और किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / फूड क्राफ्ट इंस्टीट्यूट से कुकरी / होटल मैनेजमेंट और कैटरिंग टेक में एक वर्ष या उससे अधिक की अवधि का डिप्लोमा / सर्टिफिकेट कोर्स होना जरूरी है।

जूनियर कमीशन अधिकारी धार्मिक शिक्षक: जूनियर कमीशन अधिकारी (धार्मिक शिक्षक) की सूची में नियुक्ति के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक होनी चाहिए इसके अतिरिक्त, उम्मीदवार को धार्मिक संप्रदाय के अनुसार इस तरह की योग्यता होनी चाहिए।

जैसे यदि गोरखा रेजिमेंट के लिए पंडित के चयन के लिए उम्मीदवार को वहां की भाषा के साथ संस्कृत का ज्ञान होना जरूरी है साथ ही आचार्य या शास्त्री के लिए A करम कांड ’में एक साल के डिप्लोमा होना अनिवार्य है।

पंजाबी में ‘ग्यानी’ के साथ सिख उम्मीदवार

लद्दाख स्काउट्स के लिए मौलवी (शिया):

अरबी में मौलवी अलीम के साथ मुस्लिम उम्मीदवार या उर्दू में अदीब आलिम

बोध भिक्षु (महायान): कोई भी व्यक्ति जिसे उपयुक्त प्राधिकारी द्वारा भिक्षु/बौद्ध पुजारी ठहराया गया है। या इसके अलावा मुख्य पुजारी को खंपा या लोपोन या रबजम के गेशे (पीएचडी) या मठ से उचित प्रमाण पत्र साथ होना चाहिए।

चयन प्रक्रिया :
लिखित परीक्षा, साक्षात्कार में बेहतर प्रदर्शन, फिजिकल फिटेनस और डॉक्यूमेंट्स की स्क्रीनिंग के आधार पर अभ्यर्थी को चुना जाएगा।


⏬ Buy Important Books For All Competitive Exams ⏬

Post a Comment

0 Comments